आरटीआई के दायरे से खुद को बाहर बताना राज. फार्मेसी काउन्सिल को महंगा पड़ा|

(दैनिक भास्कर  दिनांक 2106/2017 को प्रकाशित  खबर से साभार)