आखिर करनी पड़ी आबकारी विभाग को शराब का विज्ञापन करने वाले पर कार्यवाही|

जनता शराब की दुकानों के खिलाफ सड़कों पर उतर रही है,वही शराब के ठेकेदार आबकारी विभाग के अधिकारियों की मदद से नियम कायदे बैखोफ होकर तोड़ रहे है,ऐसा ही मामला महारानी फ़ार्म स्थित शराब की दूकान पर देखने को मिला जहाँ लाईसेंसी ने ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए बीयर पर डिस्काउंट के होर्डिंग लगा रखे थे,जबकि आबकारी नियम 77-B के अनुसार ऐसे किसी भी विज्ञापन की पाबंदी है|


राजस्थान पत्रिका में इस खबर के प्रकाशित होने के बाद पोस्ट द्वारा लोक परिवाद दायर कर दोषी लाईसेंसी पर कार्यवाही चाही गयी,तदुपरांत विभाग को कार्यवाही करनी पड़ी और जानकारी दी गयी कि मामले के सही पाए जाने पर अभियोग दर्ज कर किया जाकर कार्यवाही प्रारम्भ कर दी गयी है|
परन्तु एक अन्य बिंदु जिसके अन्तर्गत विभाग ने इस दूकान से स्थानीय बालिका स्कूल की दुरी जो कि वास्तव में १८३ मीटर है को यह कह कर नकार दिया कि सुगम यातायात से स्कूल की दुरी २०३ मीटर है,जो कि आबकारी नियम 75 के अनुरूप है|
इस विषय पर अग्रीम कार्यवाही की जारही है उम्मीद है कि शीघ्र ही दूध का दूध और पानी का पानी कर दिया जाएगा|