अश्लील वीडियो अपलोड होने से नहीं रोक सकते|

इंटरनेट पर अश्लील वीडियो अपलोड होने और उससे किसी की साख धूमिल होने से जुड़े मामले पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने सर्च इंजन से जुडी कम्पनियों से इसका निदान खोजने को कहा|
जस्टिस मदन बी लोकुर और उदय पटेल की बेंच ने पूछा कि जब तक वीडियो को हटाया जाता है,तब तक उस व्यक्ति की साख चली जाती है|क्या संभव है कि वीडियो को पहले ही रोक दिया जाए|इस पर कम्पनियों ने असमर्थता जताई|कम्पनियों ने कहा कि यह संभव नहीं है,क्योकि वीडियो भारी संख्या में अपलोड किये जाए है|

(साभार:-राजस्थान पत्रिका में दिनांक 22/02/2017 को प्रकाशित खबर)