राजस्थान प्रदेश में अन्य राजकीय सेवाओं से आईएएस में 2 पदों पर चयन की प्रक्रिया में अनियमितता|

राजस्थान प्रदेश में अन्य राजकीय सेवाओं से आईएएस में 2 पदों पर चयन की प्रक्रिया में अनियमितता और अपारदर्शिता सामने आई है,गौरतलब है कि अन्य सेवाओं से 2 पदों पर आई.ए.एस. अधिकारियों की नियुक्ति होनी है जिसके लिए एक विभाग से एक अधिकारी का नाम तथा कुल 10 नामों की सूची यू.पी.एस.सी. को भेजी जानी थी|जिसमे जम कर अनियमितता बरती गयी,इस पुरे मामले की शिकायत माननीय प्रधानमन्त्री महोदय को की जा चुकी है|

रिश्वत के साथ ही शराब बिक्री के लिए मांगी बंधी|

भ्रष्टाचारनिरोधक ब्यूरो बांसवाडा की टीम ने कुशलगढ़ के आबकारी निरीक्षक को साढ़े तीन हजार की रिश्वत लेते रंगेहाथों गिरफ्तार किया|कुशलगढ़ निवासी लक्ष्मण के मुताबिक सीआई रामेश्वरलाल ने ये रकम लक्ष्मण से दर्ज प्रकरणों में जल्द चालान पेश करने के एवज में मांगी थी,साथ ही शराब बिक्री की छुट देने के बदले बंधी भी मांगी थी|
सोजन्य से राजस्थान पत्रिका

चित्तोडगढ जिला आबकारी अधिकारी 50 हजार की घुस लेते पकड़ा गया|

एसीबी राजसमन्द की टीम ने शराब ठेकेदार से 50 हजार की रिश्वत लेते चित्तोडगढ के जिला आबकारी अधिकारी राजेंद्र कुमार बंजारा को रंगेहाथ पकड़ा|

जयपुर के शराब माफियाओं में खलबली,धमकियां देने का दौर चालु|

जैसा कि विदित है जयपुर के आबकारी विभाग में इंस्पेक्टरराज चरम पर है|वित्तीय वर्ष 2017-18 के दौरान शराब की दुकानों की लोकेशन पास करने में जमकर नियमों का दुरूपयोग किया गया,जहाँ मन चाहा,जिस ठेकेदार ने अधिकारियों की जेबें गर्म करी उसे मनचाही जगह शराब की दूकान खोलने की अनुमति दी गयी इस पूरी प्रक्रिया में न स्कूल आड़े आई और ना ही अस्पताल,मंदिर,सिनेमाघरों की नियमानुसार 200 मीटर की दुरी,कहीं जनाक्रोश को ढाल बनाया गया, तो कही राजस्व हित को,और गली बनने में सहायक हुआ सुगम यातायात||
इन मामलों में ठेकेदारों की स्थिति तो सांप और छछुनदर जैसी हो गयी है,न तो शिकायत कर सकते है और ना ही कमाई कर सकते है,बरसो से टिके अधिकारी जौंक की भांति शराब ठेकेदारों का खुन चुस रहे है|
हमारे द्वारा जब इस इंस्पेक्टरराज के खिलाफ मुहीम छेडी गयी तो परिणामस्वरूप JDA द्वारा एक अवैध रूप से निर्माण की गयी शराब की दूकान को सील कर दिया गया,और एक अन्य दूकान के विरुद्ध आबारी विभाग,जयपुर शहर को शराब के प्रचार-प्रसार करने के विरुद्ध अभियोग दर्ज करना पड़ा|इन सारी कार्यवाहियों से शराब माफियाओं और भ्रष्ट अधिकारियों में खलबली मच गयी,शुरुआत में शराब माफियाओं द्वारा समझाईश की कार्यवाही की गयी,और मेरे सूचना आवेदन वापस लेने के लिए दबाव बनाया गया,नहीं मानने पर बौखलाहट में उनके द्वारा जान-माल को क्षति पहुचाने/झूठे मामलों में फ़साने की धमकियां देना शुरू कर दिया गया,कुछ दिनों से उनके द्वारा विभिन्न वाहनों से मेरा पिछा भी किया जाने लगा है|

इस पुरे प्रकरण से दिनांक 30/06/2017 को संपर्क पोर्टल द्वारा आबकारी आयुक्त,राजस्थान सरकार को अवगत करवा दिया गया है|देखते है भविष्य में ऊंट किस करवट बैठता है| 

आबकारी विभाग के अनुसार जहाँ से अजान की आवाज नहीं वो मस्जिद नहीं|

यह वाकया अजमेर जिले के कवंडसपूरा का है जहाँ आबकारी विभाग ने बोहरा समाज की मस्जिद को इस लिए मस्जिद मानने से इनकार कर दिया क्यूंकि वहां से अजान की आवाज नहीं आती हकीकत यह है कि बोहरा समाज की मस्जिदों में नमाज व अजान के लिए लाउडस्पीकर का उपयोग नहीं होता|

आबकारी विभाग:जहाँ लाईसेंसी की ताकत और पैसे से बदल जाते है नियम कायदे|

मामला बड़ा ही दिलचस्प है,आबकारी विभाग जिस दूकान को पहले लाईसेंस देता है उसी दूकान को दो दूकान पास में होने का हवाला देकर,विवाद की स्थिति उत्पन्न होने,आदि बातों का हवाला देकर उसे शिफ्ट करने के आदेश दे दिए,यहाँ तक नियमों का हवाला दे कर दूकान तक बंद करवा दी,मगर उसी दूकान को यही विभाग 14 दिन बाद वापस संचालित करने का आदेश दे देता है|

बाज नहीं आ रहे शराब की दूकान का विज्ञापन करने में|

ऐसे तो माननीय सुप्रीम कोर्ट ने देश के सभी हाई-वे से 200 से 500 मीटर की दुरी पर से शराब की दुकाने हटाने को कहा है,जिससे लोगो को शराब उपलब्ध नहीं हो और लोग शराब पी कर ड्राईविंग नहीं करें|प

हीरापुरा के नजदीक,हाई-वे पर बेचीं जा रही अवैध रूप से देशी शराब|

हीरापुरा स्थित एक्सप्रेस हाई-वे पर पुलिस की गश्त के बावजूद अवैध रूप से देशी शराब बेचीं जा रही है,स्थानीय लोगो के अनुसार यहाँ सुबह 5 बजे से अवैध शराब बिकनी शुरू हो जाती है|

आखिर करनी पड़ी आबकारी विभाग को शराब का विज्ञापन करने वाले पर कार्यवाही|

जनता शराब की दुकानों के खिलाफ सड़कों पर उतर रही है,वही शराब के ठेकेदार आबकारी विभाग के अधिकारियों की मदद से नियम कायदे बैखोफ होकर तोड़ रहे है,ऐसा ही मामला महारानी फ़ार्म स्थित शराब की दूकान पर देखने को मिला जहाँ लाईसेंसी ने ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए बीयर पर डिस्काउंट के होर्डिंग लगा रखे थे,जबकि आबकारी नियम 77-B के अनुसार ऐसे किसी भी विज्ञापन की पाबंदी है|

आखिर सील करनी पड़ी अवैध निर्माण में बनी शराब की दूकान|

आखिरकार रसूखदारों के लाख कोशिशों के बावजूद नेशन इंटरेस्ट पोस्ट के प्रयासों से जे.डी.ए. को अजमेर रोड जयपुर में स्थित अवैध शराब की दूकान को सील करना पड़ा|
S-6,अजमेर रोड विपुल मोटर्स के पास स्थित भूखंड पर अवैध रूप से दूकान बना कर आबकारी विभाग के अधिकारीयों से सांठ-गांठ कर, उसमे अंगरेजी शराब की दुकान की लोकेशन पास करवा ली गयी|

कैदियों पर बेहिसाब खर्च|सुप्रीम कोर्ट जेलों की कराएगा ऑडिट|

राज्य सरकारों और केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा जेल में बेहिसाब खर्च पर सुप्रीम कोर्ट ने अचरज जताया है|

प्रदुषण पर सुप्रीम कोर्ट सख्त|ट्रीटमेंट प्लांट नहीं तो बिजली नहीं|

सुप्रीम कोर्ट ने प्रदुषण के मसले पर सुनवाई करते हुए सख्त रुख अपनाया है|कोर्ट ने ओद्योगिक इकाईयों के ट्रीटमेंट प्लांट स्थापित नहीं करने पर नाराजगी जताई|

अश्लील वीडियो अपलोड होने से नहीं रोक सकते|

इंटरनेट पर अश्लील वीडियो अपलोड होने और उससे किसी की साख धूमिल होने से जुड़े मामले पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने सर्च इंजन से जुडी कम्पनियों से इसका निदान खोजने को कहा|

फिल्म की कहानी में हो राष्ट्र गान तो खड़े होने की जरुरत नहीं|सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट ने साफ़ किया है कि किसी फिल्म या डॉक्युमेंट्री की स्टोरी लाईन में अगर राष्‍ट्र गान बजता है तो लोगो को खड़ा होना जरुरी नहीं|

एनओसी नहीं लेने वाले उद्योगों को नोटिस

नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ने राज्य प्रदुषण नियंत्रण मंडल को निर्देश दिए है कि केन्द्रीय भूजल प्राधिकरण से अनापत्ति प्रमाण पत्र नहीं लेने वाले उद्योगों का पता लगाने के लिए सर्वे करायाजाये|इसके बाद इन उद्योगों को नोटिस भेजे जायेंगे|

स्वयम्भू जनसेवक V/S लाचार कोटा पुलिस

कुकुरमुत्तों की तरह फैले और देश की हर गली मोहल्लों में अपनी धौस ज़माने वाले गुंडे किस्म के कथित स्वयंभू जनसेवकों का एक दुसाहस पुनः कोटा शहर में देखने को मिला| जहाँ चालान करने जैसे पुलिस के आम कार्यों को लेकर इन कथित स्वयंभू जनसेवकों ने अपने गुर्गों के साथ थाने में घुसकर केवल अपनी धौंस जमाने के लिए वहां तैनात एक सी.आई. को चांटा जड़ दिया|
परिणामस्वरूप पुलिस को अपना रूप दिखाना ही पड़ा|और लाठीचार्ज कर इन अराजकता फैलाने वालों को भगाना पड़ा|

हाईवे के 500 मीटर तक नहीं बेच सकते शराब|

विज्ञापन बोर्ड भी नहीं होंगे हाईवे पर|
देश की सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने के लिए सुप्रीमकोर्ट ने एक अहम फैसला सुनाते हुए कहा है कि एक अप्रैल 2017 से रास्ट्रीय राजमार्गों के आसपास 500 मीटर तक कोई शराब की दूकान नहीं होगी|

बिना पूर्णता प्रमाण पत्र फ्लेट की रजिस्ट्री पर रोक|

हाईकोर्ट ने बहुमंजिला भवनों के नियम विरुद्ध निर्माण पर गंभीरता दिखाते हुए कहा है कि पूर्णता प्रमाण जारी होने से पहले इनमे निर्मित फ़्लैट की रजिस्ट्री नहीं की जाये|यह आदेश पूरे प्रदेश में लागू होगा|

सरकारी भवनों का हो ऑडिट:एनजीटी

एनजीटी ने दिल्ली के सभी सरकारी भवनों,अस्पतालों और स्कूल कॉलेजों का एनवायरनमेंट ऑडिट कराने का निर्देश दिया है|

प्रदेश में पर्यावरण मंजूरी के बिना नहीं चलेंगे अस्पताल|

एनजीटी ने पंजीकरण और मंजूरी के बिना चल रहे संस्थानों पर ताला जड़ने के दिए आदेश|
अस्पताल,क्लिनिक,पैथोलोजी और ब्लड बैंक जैसी स्वास्थ्य इकाइयों के संचालकों को अब मेडिकल कचरे के निस्तारण में लापरवाही भारी पड़ेगी| एनजीटी और लोक लेखा समिति ने ऐसा ना करने वाली इकाइयों को बंद करने के निर्देश दिए है|

पुलिस ने जय श्री पेरीवाल स्कूल के अवैध बेरीकेट्स हटवाये|

कुछ समय से अपने रसूख के चलते चित्रकूट वैशालीनगर स्थित जय श्री पेरीवाल स्कूल द्वारा अपनी स्कूल की छुट्टी के समय अपने कर्मियों की मदद से  मैन गेट के सामने के यातायात को यातायात पुलिस के ही बेरीकेट्स लगवा कर एकतरफ़ा यातायात करवा रखा था|