हेराफेरी के ठेके पर हाई-कोर्ट की रोक|



राजस्थान रोड वेज़ में पार्सल सेवा का ठेका देने के मामले में राजस्थान उच्च न्यायालय ने स्टे दे दिया है|डीलक्स डिपो में तकनीकी ठेका खोलने के तत्काल बाद वित्तीय ठेका एक फर्म को जारी कर दिया|पांच फर्मों ने आवेदन किया था इसमें से चार कम्पनियों के प्रतिनिधियों के हस्ताक्षर नोटशीट पर कराये बिना ही वित्तीय बिड को खोल कर एक कम्पनी को जारी कर दिया गया|

रोडवेज ने डीलक्स के लिए 25 फ़रवरी को निविदा निकाली थी|16 मार्च को निविदा खोली गयी|आरोप है कि पुष्पक कोरियर के निविदादाता ने साई मार्केटिंग एंड ट्रेडिंग कम्पनी के अनुभव और नियम को लेकर शिकायत की,लेकिन मुख्य प्रबंधक ने आपत्ति दरकिनार करते हुए ठेका साई मार्केटिंग एंड ट्रेडिंग कम्पनी को जारी कर दिया|राजस्थान पार्सल सर्विस के प्रतिनिधि मुख्यालय शिकायत देने पहुंचे तो किसी ने स्वीकार ही नहीं किया|गौरतलब है कि 2014 में कागजों के फर्जीवाड़े के कारण इसी कम्पनी का केस कोर्ट में पहुँच गया था|इसके बाद जारी हुए ठेके में यह कम्पनी बाहर हो गयी थी|
(साभार:-राजस्थान पत्रिका दिनांक:-02/05/2016)