थानों में पड़े लावारिस वाहनों की करों नीलामी|



हाई कोर्ट ने पुलिस को निर्देश दिया  है कि थानों में पड़े जब्तशुदा वाहनों को लेने कोई नहीं आये तो उनके बारे में बिमा कम्पनियों को सूचित करें|बीमा कम्पनी भी वाहन का कब्ज़ा नहीं ले तो सम्बंधित कोर्ट के निर्देशानुसार वाहन की नीलामी कर दी जाए|
मुख्य न्यायाधीश एस.के. मित्तल और न्यायाधीश मोहम्मद रफीक की खंडपीठ ने राजस्थान विश्वविद्यालय स्थित विधि महाविद्यालय के विधिक उपचार केंद्र के निदेशक डा.भगवान् दास रावत की जनहित याचिका निस्तारित करते हुए यह आदेश दिया|
प्रार्थीपक्ष के अधिवक्ता एन.सी. गोयल ने कोर्ट को बताया कि प्रदेश के थानों में जब्तशुदा वाहन पड़े है|सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों के बावजूद इन वाहनों के निस्तारण के लिए सिस्टम विकसित नहीं किया गया है जबकि सुप्रीम लोर्ट ने आदेश की पालना की जिम्मेदारी सभी राज्यों के हाईकोर्ट प्रशासन की सौंप रखी है|राज्य सरकार की और से अतिरिक्त महाधिवक्ता धर्मवीर ठोलिया ने कोर्ट को बताया कि पुलिस ने इन वाहनों के निस्तारण के लिए दिशा-निर्देश जारी कर दिए है|
(साभार:-राजस्थान पत्रिका दिनांक 10/04/2016 को पेज 02 पर प्रकाशित खबर “थानों में पड़े लावारिस वाहनों की करों नीलामी”)