RPSC द्वारा सब इंस्पेक्टर भर्ती मामले में जांच|

दिनांक 14/10/2015 को राजस्थान पत्रिका में प्रकाशित "पहले अपात्र, फिर बनाया सब इंस्पेक्टर" खबर पर श्रीमान चेयरमैन महोदय RPSC से सम्पूर्ण प्रकरण की निष्पक्ष जांच की मांग की गयी थी|
इस सन्दर्भ में दिनांक 07/01/2016 को सेकेट्री महोदय,RPSC कि तरफ से प्राप्त जवाब में बताया गया कि इस प्रकरण की जांच की जा रही है|